Type Here to Get Search Results !

जन्मदिन विशेष (12 अगस्त) मेरा जन्मदिन-ss

जन्मदिन विशेष (12 अगस्त)
 मेरा जन्मदिन
लो जी 
एक वर्ष और घट गया
मेरी  उम्र का
या यूं कहें
शाश्वत मृत्यु से मिलन का
समय नजदीक आ गया
कुछ भी कहो
अच्छी बात तो यह है कि
अल्हड़ बचपन के सुनहरे
दिन करीब आ गये
जिंदगी तरसती है जिसे
मनभावन सुहानी जिंदगी को
मन मचलने लगता है
देखकर बालपन की
  मोहित लीलायें 
आज मेरी खुशी 
बेपार हो गई
जिंदगी में लग गये
चार चांद
बस मही सोचकर
मेरा बचपन एक वर्ष करीब आ गया
ये तो जिंदगी है
हर बुराई में समाहित होती है
अनंत अनमोल अच्छाइयां
फर्क सिर्फ इतना है
कि हम क्या सोचते हैं
गुनते हैं समझते हैं
दुनिया जानती है
कुदरत के जो शाश्वत नियम हैं
अटल हैं
समय के पहिये के साथ
चलायमान हैं
समय का पहिया रूकना सम्भव नहीं
तो क्यों न जिंदगी मे
खुशियों के सुमन खिला दे
जीवन को मधुवन सा महका दें
खुश रहने की राहें बहुत है
संघर्ष मयी जीवन
सुख दुख का सागर है
दुख में भी सुख तलास लेना
बहुत आसान है 
और नहीं भी
मै तो खुश हूँ
बहुत खुश हूँ
इसलिए कि मेरा आज जन्मदिन है
अल्हड़ बचपन पाने को
एक सीढी़  और चढ़ गया ।

सुभाष चौरसिया हेमबाबू 
महोबा, उत्तर प्रदेश 

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.