Type Here to Get Search Results !

पढिए प्रेमी जी की रचना भोजपुरी गाना srisahitya

भोजपुरी गाना

कर ताड़ू आके काहे
एतना झमेला
डर लागे करबा आगे
कवन -कवन खेला
डर लागे-----‐--

चली नाही इहवां गोरी
तोहर कौनो दाव हो
होईबु जियान मिली
 अईसन तोहरा घाव हो
करबू बखेड़ा ईहवाँ
लग जाई मेला
डर लागे--------

नइखे तोहर बाबूजी के 
इहाँ कौनो राज हो
चाह ताड़ू जयीसन इहवाँ
होई नाही काज हो
गुरू बानी तोहर जनि
बुझा मत चेला
डर लागे-----------

अईलु तो होखा नाही
गोरी परेशान हो
देई देहब तोहरा खातिर
हम आपन जान हो
बन जा हमार प्रेम
शंकर कहेला
डर लागे------------
कर ताड़ु------------
डर लागे------------

गीतकार--प्रेमशंकर प्रेमी(रियासत पवई)औरंगाबाद

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ
* Please Don't Spam Here. All the Comments are Reviewed by Admin.